Chhattisgarh

“अधिकारी स्वप्रेरणा से आवेदनों का सामयिक निराकरण सूनिश्चित करें” -कलेक्टर

रिपोर्ट : आशीष अग्रवाल

जांजगीर-चांपा : कलेक्टर यशवंत कुमार ने आज कलेक्टर कार्यालय सभाकक्ष में आयोजित साप्ताहिक समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुए विभिन्न श्रोतों से प्राप्त विभागवार लंबित आवेदनों के निराकरण की क्रमबद्ध समीक्षा की। उन्होंने कहा कि सभी अधिकारी उन्हें प्राप्त आवेदनो का स्वप्रेरणा और पहल से सामयिक रुप से निराकरण की कार्यवाही सुनिश्चित करें। बैठक में उन्होंने प्रधानमंत्री फसल बीमा और किसान क्रेडिट कार्ड के लंबित आवेदनों के निराकरण की समीक्षा करते हुए लंबित आवेदनों का शीघ्र निराकरण करने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने कृषि, मत्स्य, उद्यान विभागो को निर्देशित कर कहा कि किसान क्रेडिट कार्ड योजना में आवेदका प्रत्येक किसान को लोन देने की कार्रवाई की करें । बैठक में उन्होंने कर्मचारी संपदा प्रपत्रों की कोषालय में प्रविष्टि की जानकारी ली और शेष अधिकारियो,कर्मचारियों को प्रपत्र यथाशीघ्र जमा करने के निर्देश दिए । कलेक्टर ने इस माह संपदा प्रपत्र जमा नहीं करने पर संबंधित अधिकारी, कर्मचारी का वेतन रोकने जिला कोषालय अधिकारी को निर्देश दिए। कलेक्टर ने खाद्य अधिकारी को निर्देशित कर कहा कि क्वारंटीन, प्रवासी श्रमिक परिवार के ऐसे सदस्य जिनका नाम अब तक राशन कार्ड में नहीं जोड़े गए हैं ,उनका नाम शीघ्र जोड़ने की कार्रवाई करें।

कार्यालय में न्यूनतम लोगों को प्रवेश दे-

कोविड-19 के संक्रमण की रोकथाम के लिए कलेक्टर ने सभी जिला स्तरीय अधिकारियों को कार्यालय में फिजिकल डिस्टेंसिंग सहित कोविड-19 , प्रोटोकॉल का पालन सुनिश्चित करने कहा। उन्होंने कार्यालय में अति आवश्यक कार्य होने पर कम से कम लोगों को प्रवेश की अनुमति देने कहा। कलेक्टर ने कहा कि कोविड-19 के संक्रमण पर नियंत्रण के लिए किसी भी स्तर पर लापरवाही घातक सिद्ध हो सकती है। उन्होंने जिले के कंटेनमेंट जोन में रहने वाले लोगों को आवागमन नहीं करने तथा एक दूसरे के घर से संपर्क नहीं रखने के लिए प्रत्येक जोन में अनाउंस कराने के निर्देश दिए।

एसडीएम तहसील कार्यालयों का सतत निरीक्षण करें-

कलेक्टर ने सभी एसडीएम से कहा कि वे अपने मातहत तहसील कार्यालयों का सतत निरीक्षण करें और लंबित प्रकरणों के निराकरण की कार्रवाई सुनिश्चित कराएं। कलेक्टर ने सक्ती अनुविभाग के अंतर्गत घर जलने की घटना पर राहत राशि के भुगतान में विलंब होने पर नाराजगी जाहिर की।

बैठक में कलेक्टर ने विभिन्न आयोगों से प्राप्त पत्रों का शीघ्र निराकरण करने कहा। उन्होंने मुख्यमंत्री सचिवालय ,निवास सामान्य प्रशासन, जनशिकायत निवारण सहित विभिन्न स्रोतों से प्राप्त पत्रों के निराकरण की कार्रवाई की क्रमबद्ध समीक्षा की और अधिकारियों उनके निराकरण के लिए आवश्यक दिशा निर्देश दिए।

Show More

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!
Close