Chhattisgarh

कोरबा : प्लांट बंद करने विद्युत कंपनी ने तैयार किया सेटअप.. ऑफिस अधिकारी व कर्मचारी रहेंगे कार्यरत.. सुरक्षाकर्मी भी होंगे तैनात.. बिजली उत्पादन से जुड़े कर्मियों का होगा तबादला.

छत्तीसगढ़/कोरबा : छत्तीसगढ़ सरकार की सबसे पुरानी पावर प्लांट 3 माह बाद बंद होने वाली है लेकिन ऑफिस कर्मचारी अधिकारी तैनात रहेंगे। साथ ही प्लांट की परिसंपत्ति की सुरक्षा के लिए विभागीय सुरक्षा कर्मी तैनात किए जाएंगे। बिजली उत्पादन प्रेशर कार्य करने वाले 70 से अधिक बिजली कर्मचारियों को दूसरे प्लांटों में स्थानांतरित किया जाएगा।

कोरबा पूर्व ताप विद्युत संयंत्र नेशनल ग्रीन टिब्यूनल के निर्देश पर नवंबर माह में बंद हो जाएगी। इस प्लांट को बंद करने की उल्टी गिनती शुरू हो गई है। साथ ही सेटअप भी तैयार किया जा रहा है। छत्तीसगढ़ बिजली कंपनी ने इस संयंत्र में कार्यरत ज्यादातर अधिकारियों और कर्मचारियों का मरवा व हसदेव ताप विद्युत संयंत्र में तबादला करने का निर्णय लिया है। इस संयंत्र में मात्र 200 कर्मचारी व अधिकारी कार्यरत हैं जबकि 636 पद पहले ही समाप्त की जा चुकी है। प्लांट बंद होने के बाद अधिकारियों और कर्मचारियों की सेटअप तैयार किया जा रहा है जिसके तहत प्लांट से उड़े 70 कर्मचारी का तबादला किया जाएगा। बंद प्लांट में कार्यालयीन कार्य हेतु अधिकारी व कर्मचारी कार्यरत रहेंगे। प्लांट की संपत्ति की सुरक्षा और निगरानी के लिए विभागीय सुरक्षाकर्मी तैनात रहेंगे। सुरक्षाकर्मी की ड्यूटी यह रहेगी ताकि वे प्लांट के उपकरणों व अन्य सामानों की सुरक्षा करें। वही कार्यालय अधिकारी व कर्मचारी प्लांट पूरी तरह से बेचे जाने तक कार्यरत रहेंगे।

Show More

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!