ChhattisgarhCorona Update

कोरबा: प्रशासन के आदेश से गणेशोत्सव समिति में खौफ… “3 हजार होता है चंदा, कोई निकल आया कोरोना पॉजिटिव तो कहा से जुटायेंगे इलाज की रकम?”

विक्की निर्मलकर INN24

प्रशासन ने कोरोना काल मे गणेश पूजन के मद्देनजर नए प्रोटोकॉल जारी किए है. इसके तहत गणेश पूजन समितियों को गणेश स्थापना के पहले स्थानीय प्रशासन से अनुमति लेनी होगी वही दूसरे नियम के मुताबिक यदि पूजन के नौ दिनों के दौरान समिति से जुड़ा कोई शख्स कोरोना से पीड़ित होता है तो अस्पताल तक परिवहन, इलाज, दवा और क्वारन्टीन का खर्च सम्बंधित समितियों को वहन करना होगा. प्रशासन के इसी नियम ने कई पुराने गणेश समितियों की नींदे उड़ा दी है. इस साल पूजन को लेकर उन्होंने अपने हाथ खींच लिए है.

बात करे पम्प हाउस में स्थापित होने वाले गणेश जी की तो इस साल समिति ने अपना कार्यक्रम लगभग रद्द कर दिया है. आयोजन समिति के प्रमुख मो. अकील सिद्दकी का साफ कहना है कि समिति का कुल चंदा (सहयोग राशि) तीन हजार के करीब होता है. वे मूर्ति स्थापना, नौ दिनों का पूजन, हवन व विसर्जन इसी राशि से पूरा होता है. यदि इस दौरान उनका कोई सदस्य पॉजिटिव पाया गया तो उसका इलाज वे कहा से कर पाएंगे?

आपको बता दे कि पम्प हॉउस में गणेश स्थापना बीते डेढ़ दशक से अनवरत जारी है. यह समिति शहर के अन्य समितियों से इसलिए भी अनोखा है क्योंकि इसके प्रबंधक मुस्लिम समाज के है. जिले में यह पूरा आयोजन हिन्दू-मुस्लिम एकता के प्रतीक के तौर पर देखा जाता रहा है. गौरतलब है कि कोरोना संकट को देखते हुए इस बार सभी छोटे समितियों ने सार्वजनिक गणेश पूजन से दूरी बना ली है.

Show More

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!
Close