CrimeNational

जहरीली शराब पीने से 24 लोगो की मौत, पोस्टमार्टम से पहले हुआ शवों का दाह संस्कार..

पंजाब में जहरीली शराब पीने से 24 लोगों की मौत हो गई. मरने वालों में 10 अमृतसर के, 10 तरनतारन के और 4 बटाला के हैं. मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने इस घटना पर दु:ख व्यक्त करते हुए जांच के आदेश दिए हैं. इस मामले में पंजाब पुलिस ने कुछ लोगों को गिरफ्तार किया है. इसके साथ ही थाना तरसिक्क के एसएचओ को सस्पेंड कर दिया गया है. मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के आदेश पर इस मामले की जांच के लिए एसआईटी गठित की गई है.

पंजाब के डीजीपी दिनकर गुप्ता ने घटना की जानकारी देते हुए कहा कि पहली पांच मौतें 29 जून की रात को अमृतसर ग्रामीण के थाना तरसिक्क के मुच्छल और तंग्रा गांवों में हुई थीं. इसके बाद 30 जुलाई की शाम को मुच्छल में संदिग्ध परिस्थितियों में दो और लोगों की मौत हो गई थी, जबकि एक व्यक्ति को गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया. दो और मौतें गांव मुच्छल में हुईं, जबकि दो लोगों की मौत बटाला शहर में हुई. शुक्रवार को फिर से बटाला में पांच लोगों की मौत हुई. बटाला में जहरीली शराब पीने से 7 लोगों की मौत हो चुकी है. इसके अलावा तरनतारन में 10 लोगों की मौत हुई है.

मामले में बड़ी लापरवाही उस समय सामने आई जब मृतकों का पोस्टमार्टम होने से पहले ही सभी शवों का संस्कार भी कर दिया गया. मुच्छल गांव के पीड़ित परिवारों का आरोप है कि मृतकों ने गांव की ही एक महिला से देसी शराब खरीदी थी. पुलिस ने इस मामले में बलविंदर कौर नाम की महिला को गिरफ्तार किया है. एसएसपी अमृतसर-ग्रामीण द्वारा गठित विशेष जांच दल (एसआईटी) की जांच जारी है. इस घटना के बाद मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने पुलिस को राज्य में चल रही अवैध शराब इकाइयों को तत्काल प्रभाव से बंद कराने और इनको चलाने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के आदेश दिए हैं.

Tags
Show More

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!
Close