National

सैनिटाइजर खरीदते वक्त बरतें ध्यान, कहीं गंवानी ने पड़ जाए आंखों की रोशनी..

कोरोना वायरस से जंग में हैंड सैनिटाइजर दुनियाभर में प्रमुख हथियार साबित हो रहा है। सैनिटाइजर में मौजूद एल्कोहल वायरस को खत्म करने में कारगर साबित हो रहा है। मगर हाल ही में अमेरिका की सरकारी एजेंसी ने इसे लेकर चेतावनी भी जारी की है। कई सैनिटाइजर्स में हानिकारक एल्कोहल भी मिलाया जा रहा है, जिसका आपकी सेहत पर बहुत बुरा प्रभाव पड़ सकता है। फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (FDA) ने तो यहां तक भी कहा है कि इसके इस्तेमाल से आपकी आंखों की रोशनी तक भी जा सकती है। दुनियाभर के बाजारों में इस समय सैनिटाइजर की भारी मांग है। मगर एफडीए ने चेताया है कि कुछ सैनिटाइजर में मौजूद एथनॉल (ethyl alcohol) में मेथानॉल भी पाया गया है। इसे ‘वुड एल्कोहल’ के नाम से भी जाना जाता है। यह स्वास्थ्य को गंभीर रूप से नुकसान पहुंचा सकता है। एफडीए ने एक सूची भी बनाई है, जिसमें ऐसे 71 सैनिटाइजर्स के नाम हैं।

कई स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने इस बात की पुष्टि की है कि गलत सैनिटाइजर्स के इस्तेमाल से कई तरह के खतरे पैदा हो सकते हैं। चक्कर आना, उल्टी होना, सिरदर्द, आंखों की रोशनी जाना, दौरा पड़ने जैसी परेशानियां हो सकती हैं। यहां तक कि इस वजह से आप कोमा में भी जा सकते हैं।

माना जाता है कि एथनॉल ही ऐसा एकमात्र एल्कोहल है, जो हम बिना किसी गंभीर परिणाम के इस्तेमाल कर सकते हैं। इसी वजह से ऐसे सैनिटाइजर के इस्तेमाल की सलाह दी जाती है, जिसमें कम से कम 60 फीसदी एथनॉल हो। मगर मेथानॉल सस्ता पड़ता है, इसलिए बहुत से लोग इसका इस्तेमाल करते हैं। बिना यह सोचे कि इसका आपकी सेहत पर क्या प्रभाव पड़ेगा। मेथानॉल की वजह से हैंड सैनिटाइजर बहुत ही खतरनाक बन जाता है।

Show More

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!
Close