CHHATTISGARH

रायपुर: पुलिस तंत्र को अपनी गुंडावाहिनी के तौर पर इस्तेमाल कर प्रदेश सरकार भाजपा कार्यकर्ताओं को प्रताड़ित कर रही : भाजपा.

छग/रायपुर: भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता संजय श्रीवास्तव ने महासमुंद ज़िले के तुमगाँव थानांतर्गत ग्राम पिरदा में भाजपा किसान मोर्चा के मंडल महामंत्री भूषण साहू के परिजनों के साथ तुमगाँव पुलिस द्वारा गाली-गलौज व बेदम मारपीट की घटना के मद्देनज़र प्रदेश सरकार पर तीखा हमला बोला है। प्रदेश प्रवक्ता श्रीवास्तव ने पुलिस तंत्र को अपनी गुंडावाहिनी के तौर पर इस्तेमाल कर भाजपा कार्यकर्ताओं को प्रताड़ित करने का आरोप भी राज्य की कांग्रेस सरकार पर लगाया है। श्री श्रीवास्तव ने कहा कि प्रदेश सरकार अपने ख़िलाफ़ उठ रहे विरोध के स्वर को दबाने के लिए ठीक उसी तरह का आतंकराज चला रही है जैसा राज्य गठन के तत्काल बाद के कांग्रेस शासनकाल (सन् 2000-2003) में चलाकर भाजपा कार्यकर्ताओं को मारा-पीटा और तरह-तरह से प्रताड़ित किया जाता था। प्रदेश प्रवक्ता श्रीवास्तव ने प्रदेश सरकार को इस तरह के आतंकपूर्ण व नितांत अलोकतांत्रिक रवैए से बाज आने की चेतावनी दी है।

भाजपा प्रदेश प्रवक्ता श्रीवास्तव ने कहा कि जब से प्रदेश में कांग्रेस की सरकार सत्ता में आई है, भाजपा नेताओं और कार्यकर्ताओं को राजनीतिक प्रतिशोध की भावना से काम करके प्रताड़ित करने में लगी है। यह बेहद शर्मनाक है कि छत्तीसगढ़ पुलिस अब घर में बलात् घुसकर किसान मोर्चा के साथियों को लाठी से पीटने लगी है! महासंमुद ज़िले के तुमगांव में किसान मोर्चा के निष्ठावान सिपाही भूषण साहू की गैर मौजूदगी में पुलिस ने बिना किसी शिकायत और वज़ह के उनके घर धमकाने जाकर उनकी गैर मौजूदगी में अश्लील गाली-गलौज की और फिर झूठ गढ़कर उनके नाबालिग पुत्र को जानवरों-सा सलूक कर लाठी से पीटा। प्रदेश प्रवक्ता श्रीवास्तव ने कहा कि यह घटना किसी लोकतांत्रिक राज्य के सभ्य समाज पर कलंक का धब्बा है जो इस बात की तस्दीक करता है कि प्रदेश सरकार का लोकतांत्रिक प्रक्रिया और शासन व्यवस्घा में ज़रा भी विश्वास नहीं है और वह होकर असहिष्णु होकर बर्बरता की सारी हदें लांघने पर उतारू है। ऐसी अलोकतांत्रिक मनोवृत्ति वाली कांग्रेस और उसकी सरकार को कड़ा ज़वाब देने का समय आ ही गया है और भाजपा अब अपने नेताओं व कार्यकर्ताओं को प्रताड़ित किए जाने की अब तक की सारी घटनाओं को लेकर प्रदेशभर में व्यापक जनजागरण व आंदोलन छेड़ेगी और प्रदेश सरकार को सत्ता से बेदखल करने तक संघर्ष जारी रखेगी।

भाजपा प्रदेश प्रवक्ता श्रीवास्तव ने प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और कांग्रेस के नेताओं को आतंकपूर्ण व नितांत अलोकतांत्रिक रवैए से बाज आने की चेतावनी देते हुए याद दिलाया कि प्रताड़ना और आतंकराज के बावज़ूद भाजपा कार्यकर्ता पूरी तरह मुखर होकर प्रदेश सरकार के अन्यायपूर्ण कार्यों, जनविरोधी नीतियों, वादाख़िलाफ़ी और बदनीयती का विरोध कर प्रदेश के जनमत को जागृत करने और 2023 के अगले चुनाव में 2018 में हुई गलती के परिमार्जन का काम करते रहेंगे। प्रदेश प्रवक्ता श्रीवास्तव ने कहा कि सत्तावादी अहंकार में चूर प्रदेश सरकार राज्य में क़ानून-व्यवस्था का राज तो कायम कर नहीं पा रही है, उल्टे पुलिस तंत्र के बल पर वह अपना आतंकराज कायम कर राजनीतिक प्रतिशोध के एजेंडे के लिए प्रशासन का खुला दुरुपयोग कर रही है। प्रदेश सरकार और कांग्रेस नेता यह नभूलें कि राज्य गठन के तत्काल बाद के कांग्रेस शासनकाल (सन् 2000-2003) में भी तत्कालीन सरकार ने भाजपा नेताओं व कार्यकर्ताओं के साथ बर्बरता की सारी हदें लांघ दी थी और उसका हश्र यह हुआ था कि कांग्रेस फिर 15 सालों तक सत्ता के लिए छटपटाती रह गई थी। प्रदेश प्रवक्ता ने चेतावनी दी कि अगर प्रदेश सरकार फिर वही गलती दुहराने पर आमादा है तो भाजपा कार्यकर्ता भी ऐसी अत्याचारी सरकार को उखाड़ फेंकने के लिए कटिबद्ध है और तब कांग्रेस कई दशकों तक सत्ता के गलियारे में नज़र तक नहीं आ पाएगी।

Tags

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!