CHHATTISGARH

कोविड के बाद आर्थिक रिकवरी के लिए वेदांता की तैयारी भारत सरकार में पूर्व सचिव और गेल के पूर्व प्रमुख को परामर्शक बोर्ड में नियुक्त किया

विश्व स्तर पर काम करने वाली भारत की सबसे बड़ी डायवर्सिफाइड प्राकृतिक संसाधन कंपनी वेदांता ने वरिष्ठ स्तर पर दो नियुक्तियों की घोषणा की है। ये नियुक्तियां कोविड के बाद अगले चरण की वृद्धि हेतु तैयारियों का हिस्सा हैं। प्रधानमंत्री द्वारा किए गए आत्मनिर्भर भारत के आह्वान पर अपनी प्रतिबद्धता प्रकट करते हुए कंपनी ने यह कदम उठाया है। गौर तलब है कि भारत के कुल आयात का 50 प्रतिशत से अधिक प्राकृतिक संसाधन क्षेत्र में होता है।

जितेन्द्र कुमार दादू जो दिसंबर 2017 में भारत सरकार से सचिव की रैंक पर रिटायर हुए हैं, उन्हें वरिष्ठ सलाहकार के तौर पर नियुक्त किया गया है। दादू ने सेंट स्टीफंस कॉलेज, दिल्ली से अर्थशास्त्र में स्नातक की पढ़ाई की है और आईआईएम अहमदाबाद से एमबीए किया है, वह 1983 बैच के आईएएस अधिकारी हैं। अपने लंबे और शानदार करिअर में उन्होंने कई अहम पदों पर काम किया है जिनमें दिल्ली सिविल सप्लाईज कॉर्पोरेशन के चेयरमैन तथा भारत सरकार के वाणिज्य विभाग में अतिरिक्त सचिव एवं संयुक्त सचिव का दायित्व भी शामिल है। वह कॉर्पोरेट रणनीति टीम तथा हिन्दुस्तान जिंक की प्रबंधन समिति के साथ काम करते हुए अहम कारोबारी कदमों को आगे बढ़ाएंगे। श्री दादू ने अपनी नियुक्ति पर कहा, “बीते वर्षों में वेदांता ने उद्योग जगत एवं राष्ट्र निर्माण में महत्वपूर्ण योगदान दिए हैं। मैं ऐसे वक्त पर वेदांता के साथ जुड़ कर बहुत प्रसन्न हूं जब वह आत्मनिर्भर भारत के निर्माण पर ध्यान केन्द्रित कर रही है।”

श्री दादू वेदांता के जिस परामर्शक बोर्ड में शामिल हुए हैं उसमें पूर्व विदेश सचिव रंजन मथाई, पूर्व आर्थिक मामले सचिव आर गोपालन और पूर्व पैट्रोलियम व प्राकृतिक गैस सचिव सौरभ चंद्रा शामिल हैं। स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड के पूर्व चेयरमैन व प्रबंध निदेशक प्रकाश कुमार सिंह वेदांता की इलेक्ट्रोस्टील स्टील्स लिमिटेड (ईएसएल) के प्रेसिडेंट-ग्रोथ प्रोजेक्ट्स के पद पर नियुक्त हुए हैं। आईआईटी रुड़की से मेटालर्जिकल इंजीनियर श्री सिंह ईएसएल प्रबंधन समिति का अभिन्न हिस्सा हैं तथा वह कंपनी की मार्केटिंग, नीति और वृद्धि में अहम भूमिका निभाएंगे। श्री सिंह ने अपनी नियुक्ति पर कहा, “वेदांता ईएसएल की कायापलट की कहानी बहुत प्रेरणादायी है। इतने कम वक्त में कंपनी वृद्धि की अवस्था में पहुंच गई है और इस सफर में कंपनी से जुड़ने पर मैं बहुत उत्साहित हूं।” इन दोनों नियुक्तियों पर वेदांता के सीईओ सुनील दुग्गल ने कहा, “श्री दादू और श्री सिंह के हमारे प्रतिष्ठित परामर्शक बोर्ड में शामिल होने पर हम बेहद खुश हैं। उनके व्यापक अनुभव और ज्ञान से हमें जो लाभ मिलेगा उसके लिए हम शुक्रगुजार रहेंगे।”

Tags

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!