Chhattisgarh

कोरबा : फर्जी बोर्ड लगाकर झोलाछाप डॉक्टर द्वारा किया जा रहा ईलाज.. CMHO डॉ बोर्डे ने कहा होगी कार्यवाही.. पढ़े पूरी खबर.

छत्तीसगढ़/कोरबा : बोर्ड किसी आयुर्वेद डॉक्टर का ईलाज कोई और करें शायद ये सुनकर आप बड़े हैरान हो रहे होंगे लेकिन यह सच है।हम आपको बताना चाहेंगे की यह कारनामा कही और नही बल्कि कोरबा जिला मुख्यालय से महज 12 किमी दूर ग्राम रजगामार का है जहाँ एक क्लीनिक संचालित हो रही है जिसमे एक झोलाछाप डॉक्टर वी. के. विश्वास के द्वारा अपने क्लीनिक के सामने शासकीय सेवा से निवृत हो चुके आयुर्वेद डॉक्टर एस आर सोनी का बोर्ड लगाकर ईलाज किया जा रहा है। हैरानी तो और भी बढ़ गई जब क्लीनिक के संचालक ने बताया की बोर्ड लगाने की सहमति खुद डॉक्टर ने दी है और इसकी जानकारी भी स्वास्थ्य विभाग को है।

हम आपको बताना चाहेंगे कि सभी जिलो में झोलाछाप डॉक्टरों की होड़ सी आ गई थी जिनके द्वारा नियमो को ताक पर रखते हुए क्लीनिक का संचालन किया जा रहा था जिसके कारण छोटी बड़ी घटना आये दिन सुनने को मिलती रहती थी इन्हीं झोलाछाप डॉक्टरों पर अंकुश लगाने और नियम विरुद्ध संचालित हो रहे क्लीनिक को बंद करने के लिये स्वास्थ्य विभाग के द्वारा प्रत्येक जिलों में सघन जाँच कर कार्यवाही करने का कार्य किया गया था जिसके अंतर्गत कोरबा जिले में भी कार्यवाही की गई थी और ऐसे झोलाछाप डॉक्टरों पर कार्यवाही भी किया गया था जिसमें कई क्लीनिक को सील भी कर दिया गया था। इस तरह की कार्यवाही से बचने के लिए कई लोगो ने अपना क्लीनिक ही बंद कर दिये जिसमें यह झोलाछाप डॉक्टर भी शामिल था। क्लीनिक को बंद करने के कुछ दिनों बाद इस झोलाछाप डॉक्टर ने नई तरकीब निकालते हुए डॉक्टर एस आर सोनी से साठ गांठ कर उसका बोर्ड लगाकर ईलाज करना शुरू कर दिया और अभी भी ईलाज कर रहा है जिस पर स्वास्थ्य विभाग कार्यवाही नही कर रही है। झोलाछाप डॉक्टर ने जिस डॉक्टर का बोर्ड लगाया है उसे आयुर्वेदिक पद्धति से ईलाज करने मान्यता प्राप्त है एवं दवाई या इंजेक्शन भी आयुर्वेदिक होना है फिर भी नियमों को ताक पर रखकर ऐलोपैथिक पद्धति से ईलाज किया जा रहा तथा एलोपैथिक इंजेक्शन एवं दवाईयां दी जा रही है जो कि पूर्णतः गलत है।

जब इस संदर्भ में डॉक्टर एस आर सोनी से INN24 न्यूज़ की टीम ने बातचीत की तो उन्होंने बताया कि मैंने ही उन्हें बोर्ड लगाने की अनुमति दी है एवं इसकी जानकारी मैने तत्कालीन CMHO डॉ सिसोदिया एवं BMO डॉ दीपक राज को दी थी एवं कुछ दस्तावेज भी जमा किया था लेकिन उनके द्वारा अनुमति संबंधी कोई भी दस्तावेज मेरे को नही दिया गया था।नियम है या नही मैं नही जानता हूं ।मैं आयुर्वेदिक पद्धत्ति से ईलाज करने के लिये बोला हूं अगर एलोपैथिक ईलाज कर रहा है तो वो जाने मैं नही जानता।

‘तत्काल की जायेगी कार्यवाही’- डॉ बोर्डे CMHO कोरबा

इस संदर्भ में जब जिला CMHO डॉ बी बी बोर्डे से बातचीत हुई तो उन्होंने बताया कि मुझे उसकी जानकारी मीडिया के माध्यम से हो रही है।ऐसे मामले को मेरे द्वारा तत्काल संज्ञान में लेते हुए कार्यवाही करने की बात कही।

Tags
Show More

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!
Close