Chhattisgarh

कोरबा : ‘क्वारेंटाइन सेंटरों के संचालन में लापरवाही बर्दाश्त नहीं, प्रभारी पर होगी कार्रवाई’- कलेक्टर किरण कौशल.

छत्तीसगढ़/कोरबा : प्रवासी श्रमिकों के लिए बनाये गये क्वारेंटाइन सेंटरों के संचालन में लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जायेगी। सेंटरों में भोजन, पानी, स्वास्थ्य जांच, बीमार होने पर ईलाज के साथ-साथ सुरक्षा के इंतजामों में भी किसी प्रकार की शिथिलता नहीं बरतने के निर्देश कलेक्टर श्रीमती कौशल ने आज समय-सीमा की बैठक में दिए। उन्होंने पटियापाली के क्वारेंटाइन सेंटर के विषय में प्रकाशित भ्रामक खबर का उल्लेख करते हुए सेंटरों में सुरक्षा ओैर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन सुनिश्चित कराने का निर्देश अधिकारियों को दिए। श्रीमती कौशल ने श्रमिकों को मानसिक तनाव से दूर रखने के लिए उनकी समय-समय पर कांउंसिलिंग करने के भी निर्देश दिए हैं। क्वारेंटाइन सेंटरों में अव्यवस्था, लापरवाहीपूर्ण संचालन और सेंटर में रह रहे प्रवासियों के अनाधिकृत रूप से बाहर जाने जैसी घटनाओं को गंभीरता से लेते हुए बैठक में श्रीमती कौशल ने सेंटर के प्रभारी अधिकारी सहित स्वास्थ्य एवं राजस्व विभाग के अधिकारियों के विरूद्ध भी कड़ी कार्रवाई की चेतावनी दी है।
कलेक्टर किरण कौशल ने आज वीडियोकांफें्रसिंग के माध्यम से समय सीमा की साप्ताहिक बैठक में क्वारेंटाइन सेंटरों के संचालन की समीक्षा की। इस बैठक में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी कुंदन कुमार, नगर निगम आयुक्त एस.जयवर्धन सहित अपर कलेक्टर प्रियंका महोबिया और सभी विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी भी मौजूद रहे। सभी जनपद कार्यालयों और एसडीएम कार्यालयों से मैदानी अमला भी इस वीडियो कांफें्रसिंग से जुड़ा रहा।
बैठक में कलेक्टर ने निर्देशित किया कि क्वारेंटाइन सेंटर में रखे गये प्रवासियों के आरटीपीसीआर टेस्ट कराये जायें। टेस्ट के लिए प्रवासियों के सेम्पल भेजने के बाद उस क्वारेंटाइन सेंटर को फ्रीज कर और अतिरिक्त लोगों को न रखा जाये। कलेक्टर ने निर्देशित किया कि किसी भी प्रवासी को क्वारेंटाइन सेंटर से कम से कम 14 दिन की अवधि पूरी होने और टेस्ट रिपोर्ट आने के बाद ही छोड़ा जाये। कलेक्टर ने यह भी निर्देशित किया कि सेंटरों से रिलीज होने वाले लोगों की पूरी जानकारी संबंधित जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी, तहसीलदार, पटवारी, सचिव, सरपंच और खंड चिकित्सा अधिकारी को अनिवार्यतः दी जाये ताकि आगे होम क्वारेंटाइन अवधि में इन लोगों की कोरोना संबंधी निगरानी की जा सके। कलेक्टर ने किसी भी व्यक्ति को प्राधिकृत अधिकारी की अनुमति के बिना क्वारेंटाइन सेंटर से रिलीज करने की मनाही की है। नगर निगम कोरबा क्षेत्र में आयुक्त एस.जयवर्धन को, सभी अनुभागों में संबंधित एसडीएम को और पाली तहसील में तहसीलदार को क्वारेंटाइन सेंटर से लोगों को रिलीज करने के लिए अनुमति देने अधिकृत किया गया है।
क्वारेंटाइन सेंटरों में भोजन, पानी, साफ-सफाई, सेनेटाइजेशन, बिजली, शौचालय जैसी सभी जरूरी व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने के निर्देश श्रीमती कौशल ने पहले ही अधिकारियों को दिए हैं। उन्होंने सभी जोनल अधिकारी अपने-अपने कार्यक्षेत्र में बने क्वारेंटाइन सेंटरों का निरीक्षण कर वहां की व्यवस्थाओं के संबंध में अगले चार दिनों में संपूर्ण प्रतिवेदन प्रस्तुत करने के निर्देश दिए।

Tags
Show More

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!
Close