ChhattisgarhCorona Update

कोरबा: जिले में तीन नये कोरोना संक्रमित मरीजों की हुई पुष्टि.. क्वारेंटाइन सेंटर अमगांव से दो और पचरा से एक प्रवासी श्रमिक कोरोना संक्रमित.

छग/कोरबा: जिले में आज तीन नये कोरोना संक्रमित मरीजों की पुष्टि हुई है। तीनों मरीज क्वारेंटाइन सेंटर में ठहराये गये प्रवासी श्रमिक हैं। इनमें से 2 श्रमिक पाली विकासखंड के क्वारेंटाइन सेंटर अमगांव में ठहराये गये है और एक श्रमिक पोड़ीउपरोड़ा के पचरा क्वारेंटाइन सेंटर में ठहराये गये हैं। श्रमिकों की कोरोना जांच रिपोर्ट पाजिटिव आते ही मेडिकल टीम और वरिष्ठ अधिकारी तत्काल दोनों जगहों पर पहुंचे। यहां उन्होंने श्रमिकों की टेªवल हिस्ट्री और संपर्क में आये लोगों के बारे में जानकारी ली। पूरे सुरक्षा मापदण्डों के साथ तीनों श्रमिकों को ईलाज के लिए विशेष कोविड अस्पताल कोरबा भेज दिया गया है। इन दोनों क्वारेंटाइन सेंटरों को कोविड-19 प्रोटोकाल के अनुसार सेनेटाइज करने और मजबूत बेरिकेटिंग कर इलाके में किसी भी प्रकार की आवाजाही पर पूरी तरह रोक लगाने के निर्देश मौके पर दिये हैं।

क्वारेंटाइन सेंटर अमगांव में ठहराये गये दोनों प्रवासी श्रमिक बस के माध्यम से महाराष्ट्र के ठाणें से 22 मई को कोरबा जिला पहुंचे थे जिन्हें क्वारेंटाइन सेंटर में रखा गया है। इनमें से एक 20 वर्षीय युवक श्रमिक पाली विकासखंड के बंधिया पारा सिल्ली और दूसरा 21 वर्षीय युवक श्रमिक जिल्गा बरपाली का मूल निवासी है। यह दोनों श्रमिक काम की तलाश में महाराष्ट्र गये थे। क्वारेंटाइन सेंटर अमगांव में दो जून को कोरोना जांच के लिए दोनो प्रवासी श्रमिकों के मुंह एवं नाक का स्वाब सेम्पल लिया गया था। आज आये रिपोर्ट में दोनों श्रमिकों का कोरोना टेस्ट पाजिटिव पाया गया है। क्वारेंटाइन सेंटर अमगांव में कुल 30 प्रवासी श्रमिकों को ठहराया गया है। जो अधिकांश महाराष्ट्र, गुजरात एवं दिल्ली से लौटे हैं।

पोंड़ीउपरोड़ा विकासखंड के पचरा क्वारेंटाइन सेंटर में भी एक युवक की कोरोना जांच रिपोर्ट पाजिटिव आई है। यह युवक 28 मई को दिल्ली से यहां पहुंचा था। जिसे प्रशासन ने एतिहातन क्वारेंटाइन किया था। इसी सेंटर से तीन दिन पहले दो अन्य श्रमिक भी कोरोना संक्रमित पाये गये थे। युवक की ट्रेवल हिस्ट्री और कान्टेक्ट हिस्ट्री स्वास्थ्य विभाग द्वारा पता की जा रही है। युवक को ईलाज के लिये विशेष कोविड अस्पताल भेज दिया गया है।

Show More

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!
Close