Chhattisgarh

बम्हनीडीह : क्वारंटाइन सेंटर में रखे गये प्रवासी मजदूरों को बिजली-पानी की किल्लत.. सरपंच पति की दंबगाई..

  • रात के खाना को सुबह पोहा में मिलाकर देने का आरोप
  • जनपद पंचायत बम्हनीडीह अंर्तगत सेमरिया सेंटर का मामला

छत्तीसगढ़/जांजगीर-चांपा : अन्य प्रदेशों से वापस आने वाले मजदूरों को कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाए रखने के लिए 14 दिनों के लिए क्वारंटीन सेंटर में रखा जा रहा है, ताकि कोई भी मजदूर कोरोना वायरस के संक्रमण का शिकार ना हो और क्वारंटीन सेंटर में उन्हें किसी तरह कि परेशानी ना हो, इसके लिए उनका नियमित स्वास्थ्य परीक्षण व सुरक्षा के लिए शासकीय कर्मचारियों कि ड्यूटी भी लगाई गई है, जिनके हाथ में जिम्मेदारी दी गई है वहीं इनका निर्वहन नहीं कर रहें हैं।

दरअसल पुरा मामला जनपद पंचायत बम्हनीडीह अंर्तगत ग्राम पंचायत सेमरिया का हैं जहां शास.प्रा/पूर्व मा शाला को क्वारंटाइन सेंटर बनाया गया है,जहां मजदूरों ने खराब पानी देने, साफ-सफाई नहीं होने कि बात कहीं तो सरपंच पति भड़क उठे साथ ही मजदूरों को धमकाने लगें।

पीने के लिए साफ पानी नहीं करा रहे मुहैय्या, सरपंच पति कि धमकी

वहीं क्वारंटाइन सेंटर में रहने वाले मजदूरों ने बताया कि कल शाम से ही पानी कि किल्लत है, यहां गंदा पानी को पीने के लिये दिया जा रहा है। हमें अभी तक तो कोरोना के लक्षण नहीं है लेकिन ऐसे पानी को पीकर हम जरुर बीमर पड़ जायेगें, वहीं जब इस मामलें कि जानकारी सरपंच पति को दी तो उनके द्वारा हमें धमकी दी जाती हैं।

रात के बचे खाने को सुबह पोहा में देने का आरोप, मजदूरों के जान से खिलवाड़

वहीं एक महिला ने बताया कि हमें रात के बचे खाने को पोहा में मिलाकर दिया गया है, जो खाने लायक नहीं है, सरपंच पति द्वारा हमारे जान से खिलवाड़ किया जा रहा है,उन्हें कुछ भी पुछने पर जेल भेजने कि धमकी दी जाती हैं।

शौचालय नहीं रहे उपयोग लायक, सैनेडाईजर -साबून के दर्शन दुर्लभ

वहीं एक मजदूर ने बताया कि यहां शौचालय कि नियमित सफाई नहीं हो रहीं हैं जिससे अब यह उपयोग करने लायक नहीं है, साफ-सफाई में बिल्कुल ध्यान नहीं दिया जा रहा है,एक तरफ प्रधानमंत्री बार-बार साबून से हाथ घोने, सैनेडाईजर का उपयोग करने का सलाह दे रहें हैं जबकि यहां साबून के दर्शन दुर्लभ हो गये हैं।

सरपंच पति की मनमानी, नहीं है किसी का डर

वहीं मजदूरों ने बताया कि यहां अव्यवस्था का आलम बना हुआ है, नियमित सैनेडाईजर का छीडकाव नहीं हो रहा है,सरपंच पति द्वारा हमें धमकी दी जाती है कि तुम लोगों मेरा कुछ नहीं बिगाड़ सकते, जहां शिकायत करना है कर लो, मेरे पहुंच ऊपर तक हैं, ज्यादा तीन-पांच किये तो जो अभी मिल रहा हैं वो भी बंद करा दुंगा।

मीडिया को खबर बनाने से रोका, उच्ची पहुंच का रौब

वहीं जब मीडियाकर्मी ने मजदूरों कि समस्या को लेकर खबर कवरेज करने गये तो सरपंच पति मीडिया को ही खबर कवरेज करने से रोक रहे थे, सरपंच पति साहब अपनी पोल खुलते देख तिलमिलाने लगें,साथ ही मजदूरों को सबक सीखने कि बात करने लगे, साहब के पोल खुलते ही मीडिया खबर कवरेज करने से रोका जा रहा था, साथ ही अपनी पहुंच ऊपर तक बताते हुए खमियाजा भुगताने कि धमकी देने लगे।

सेमरिया में इसतरह की सूचना मिली हैं, जानकारी लेकर कार्यवाही की जायेगी
-कुबेर सिंह कुरैत
सीईओ, जनपद पंचायत बम्हनीडीह

संवाददाता : सराफ बम्हनीडीह

Tags
Show More

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!
Close