ChhattisgarhVideo Gallery

कोरबा : Lock Down का दर्द 8 माह की गर्भवती महिला 2 माह से तरस रही सरकारी मदद को…. सरपंच सचिव ने दिया सिर्फ आश्वासन….

INN24 कोरबा : कोरोना वायरस के संक्रमण को लेकर एहतियातन प्रदेश को LOCK DOWN किया गया है जिसके तहत प्रशासन के निर्दशानुसार लोगों को यथास्थान में रहने के निर्देश दिए गए है ताकि संक्रमण को रोका जा सके,कोरबा जिला अंतर्गत ग्राम पंचायत पतरापाली में एक ऐसा परिवार जो लगभक 50 दिनों पतरापाली में फस गए, बताया गया कि वे सगाई कार्यक्रम में शामिल होने कटघोरा से पतरापाली आये थे जो lock Down के कारण घर नही जा सके lock Down हो जाने के कारण सचिव – सरपंच ने उन्हें १४ दिन होम इसोलेसन में रहने को कहा और मदद का आश्वासन दिया उल्लेखनीय है इस परिवार में दंपत्ति के साथ तीन छोटे बच्चे भी है साथ ही महिला लगभक 8 माह की गर्भवती है उन्होंने बताया ऐसे हालात में उन्हें ग्राम मुखिया के द्वारा किसी प्रकार की सरकारी मदद नही मिली जिससे गर्भ में पल रहे बच्चा पोषण के लिए महरूम हो रहा है covid19 के संक्रमण के दौरान आवश्यक समान की व्यवस्था प्रशासन द्वारा हर जरूरतमंद लोगों के लिए युद्ध स्तर पर मदद किया गया ताकि कोई भी व्यक्ति भोजन के लिए मोहताज ना हो लेकिन कोरबा जिला के ग्राम पंचायत पतरपाली के सरपंच और सचिव ने मदद गुहार के बाद भी किसी प्रकार की कोई मदद नही की इस संबंध में पीड़ित दंपती के मुखिया ने बताया lock down के इस दौर में छोटे बच्चे 8 माह की गर्भवती पत्नी ना काम ना अनाज और ना ही घर जाने की व्यवस्था है और पूरे परिवार के सदस्यों के साथ इस विषम परिस्थितियों में मदद की आस केवल ग्राम के सरपंच और सचिव से है जिसके पास मानो दर्जनों बार मदद की आस से निवेदन किया लेकिन सरपंच और सचिव ने उनकी मदद नही की और ना ही जिले के वरीय अधिकारियों को परेशानियों से अवगत कराना मुनासिब समझा लेकीन तमाम निराशाओं के वावजूद उन्हें जिला प्रशासन से अब भी उम्मीद है कि उनकी परेशानियों की खबर लगते ही उनके मदद उनके पास जरूर पहुचेगी सवाल सबसे बड़ा यह है कि
  • आखिर इस परिवार को विषम परिस्थितियों में मदद क्यो नही मिली?
  • क्यो एक गर्भवती महिला के गर्भ में पल रहे मासूम की तड़प को जानते हुवे भी ग्राम के मुखिया और पंचायत के सचिव के  संवेदनाएं नही जागी?
  • क्यो इस परिवार को घने जंगल के बीच बसे इस गांव में सरकारी राशन का एक दाना भी नही पहुँचा?
अब देखना होगा एक गर्भवती माँ और पोषण आहार की राह तकती इन मासूम बच्चों को प्रशासन की मदद कब तक उप्लब्ध होती है.
सुने उस पीड़ित परिवार को:-

Show More

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!
Close