ChhattisgarhCorona UpdateCrimeNational

किराया नहीं देने पर मकान मालिक ने 6 लड़कियों को बनाया बंधक, पुलिस की मदद से छुड़ाया गया

तहसीलदार और पुलिस की मौजूदगी में सभी को छुड़ाकर प्रशासन ने अपने निगरानी में रखा, लेकिन मकान मालिक पर कोई कार्रवाई नहीं की गई।

पेंड्रा / कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए लोग अपने घरों में सुरक्षित रह सकें, इसलिए पूरे देश को लॉकडाउन किया गया, लेकिन ऐसे समय में एक मकान मालिक का अमानवीय चेहरा सामने आया है. पेंड्रा-गौरेला-मरवाही जिले के सेमरा गांव में मकान मालिक फिरोज ने 5 लड़कियों को घर में बंधक बना लिया. उनके सामानों को जब्त कर उन्हें एक कमरे में बंद कर दिया. सभी लड़कियां एक दिन भूखी प्यासी घर में कैद रही. हालांकि अब तहसीलदार और पुलिस की मौजूदगी में उन्हें छुड़ाकर प्रशासन ने अपने निगरानी में रखा है, लेकिन मकान मालिक पर कोई कार्रवाई नहीं की गई है. जानकारी के मुताबिक पांचों लड़कियां गौरेला के ही निजी कंपनी में काम करती हैं और किराए के मकान में रह रहीं थी. लॉकडाउन के कारण काम बंद होने के कारण कुछ अन्य युवतियां प्रशासन की मदद से अपने अपने घर जा चुकी थी. ये युवतियां भी अपने घर जाना चाहती थी, लेकिन मकान मालिक हाफिज को जैसे ही इसकी सूचना मिली, तो वह लड़कियों से घर का किराया लेने के लिए दबाव बना रहा था. लेकिन काम बंद होने से वो किराया देने में भी असमर्थ थी. इसी बीच सोमवार दोपहर पैसा नहीं दे पाने के चलते उसने लड़कियों का गैस चूल्हा, बर्तन समेत अन्य सामान जब्त कर उन्हें कमरे के अंदर बंद कर दिया. जिससे वो रात भर भूखी प्यासी रहीं. आज सुबह उन्होंने फोन पर ग्राम पंचायत की सरपंच गजमती भानु को मामले की सूचना दी. सरपंच ने तहसीलदार और पुलिस को सूचना दी, जिसके बाद गांव वालों के सामने पांचों लड़कियों को छुड़ाया गया, फिर प्रशासन ने उन्हें अपनी निगरानी में रखा है. मामला सामने आने के बाद हाफिज फिरोज अपने आप को बेगुनाह साबित करने सफाई दे रहा है. वहीं पुलिस ने प्रशासन के प्रतिवेदन के बाद ही मकान मालिक पर कोई कार्रवाई करने की बात कह रही है।

Show More

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!