Chhattisgarh

राजनांदगांव : स्कूली छात्र छात्राओं ने शराब दुकान हटाने राज्यपाल/मुख्यमंत्री के नाम सौंपा ज्ञापन.. VIDEO.

छत्तीसगढ़/राजनांदगाँव/डोंगरगढ़ : सरकार हमेेशा शिक्षा को लेकर  गम्भीर रहती है और रहना भी चाहिए क्योंकि देश व प्रदेश शिक्षित होगा तो नाम भी रोशन होगा लेकिन यह पर कुछ अलग हो रहा। छत्तीसगढ़ सरकार ने डोंगरगढ़ विकासखंड के ग्राम बेलगांव हाईस्कुल से महज 200 मीटर की दूरी पर अंग्रेजी शराब दुकान खोल रखी है जिसके वजह से रोजाना छेड़छाड़, दुर्घटना, मारपीट होते रहता है । समय-समय पर छात्र -छात्राओं व ग्रामीण जन विरोध करते आ रहे है। सैकड़ो बार शराब दुकान का विरोध हो चुका है लेकिन सिर्फ अस्वासन ही मिलता है। आज फिर एक बार स्कूली छात्र-छात्राओं व ग्रामीणों ने एसडीएम डोंगरगढ़ को महामहिम राज्यपाल, मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौपा है क्या है पूरा मामला आईए देखते है।

राजनादगाव जिले के विकखण्ड डोंगरगढ़ (बेलगांव ग्राम) में जो सरकारी अंग्रेजी शराब भट्टी का संचालन हो रहा है उसे बन्द किए जाने का मांग को लेकर स्कूली छात्राओं ने मोर्चा खोल दिया है। ग्रामीण जनों के साथ एसडीएम कार्यलय डोंगरगढ़ पहुच कर विरोध जताया है। छात्र-छात्राओं के मांग की जतन जोगी कांग्रेस लोकसभा अध्यछ नवीन अग्रवाल, व अमर गोस्वामी ने समर्थन किया है। हम बता दे कि जब से अंग्रेजी भट्टी खुली है तब से यह पर आए दिन स्कूली छात्राओं के साथ छेड़छाड़, राहगीरों के साथ मारपीट, गाड़ियों से दुर्घटना, कुछ लोगो की जान भी चली गई है। कई बार इस बारे में अधिकारियों के माध्यम से अवगत कराया गया लेकिन कोई ध्यान नही दिया गया सिर्फ झूठी अस्वासन दिया जाता रहा है और तो और अभी हमारा देश कोरोना काल से गुजर रहा है।

शराब दुकानों व भट्टी का इस कोरोना संक्रमण काल में 4 May 2020 से खोलने का निर्णय मानवता के लिए सबसे बड़ा खतरा बन कर उभरेगी और नुकसान भी होगा।

नुकसान

  1. देश मे लॉक डाउन के कारण मजदूरो के पास वैसे ही रोजगार नही है। शराब दुकान खोले जाने से देश मे भुखमरी को स्थिति निर्मित हो सकती है।
  2. जिस उत्साह व लगन से आम आदमी व सामाजिक संगठन, लोगो को पका भोजन व अनाज उपलब्ध करा रहे है उनमें भी शराब दुकानें खुलने से निराशा है।
  3. घरेलू हिंसा बढ़ने की प्रबल संभावना है । जिसके कारण कानून व व्यवस्था पर भी विपरीत प्रभाव के साथ-साथ दबाव बढ़ेगा।
  4. सोचिए अगर कोई कोरोना पॉजिटिव शराब पीकर बाजार/पब्लिक प्लेस में उल्टी कर देता है तो परिस्थितिया कितनी भयावह होगी कल्पना करें।

सरकार जो केवल आसान राजस्व के लालच में सारे मानव जीवन को कोरोना संक्रमण की ओर पुनः धकेल रही है। शराब दुकाने खोलने के निर्णय को तुरंत वापस लिया जाना चाहिये । भट्टी हटाने की मांग करने वालो ने राज्यपाल व मुख्यमंत्री को ज्ञापन में कहा है कि ग्राम बेलगांव हाईस्कूल के पास से सीघ्र ही शराब भट्टी हटाया जाए नही तो आने वाले समय मे चक्काजाम किया जाएगा।

रिपोर्टर- सन्नी कुमार यदु

Show More

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!