Entertainment

अमिताभ से जीतने के लिए ऋषि कपूर ने पैसे देकर खरीदा था अवॉर्ड, पढ़िए उनके कुछ दिलचस्प कुबूलनामे..

INN24: अभिनेता ऋषि कपूर का मंबई में निधन हो गया। वह 67 वर्ष के थे। अमिताभ बच्चन ने ट्वीट करके फैंस को इसकी जानकारी दी है। बुधवार रात खबर आई थी कि सांस लेने में परेशानी के कारण ऋषि कपूर को एचएन रिलाइंस फाउंडेशन अस्पताल में भर्ती कराया गया था। बॉलीवुड के कई दिग्गज कलाकार ट्वीट कर ऋषि कपूर को श्रद्धांजलि अर्पित कर रहे हैं।

ऋषि कपूर अनसेंसर्ड’ में ऋषि की लाइफ के कई रोचक खुलासे किए गए हैं। मीना अय्यर द्वारा लिखी गई इस किताब में ऋषि ने अपनी लव लाइफ के बारे में भी बताया था। आइए बात करते हैं उन्हीं में से 5 ऐसे किस्सों की जिसे सुनते ही लोग हैरान रह गए थे।

नीतू सिंह ऋषि कपूर का पहला प्यार नहीं थीं
इसी किताब में ऋषि ने बताया था कि नीतू सिंह से पहले वह एक पारसी लड़की यास्मीन मेहता को प्यार करते थे। यास्मीन के बारे में ऋषि ने ज्यादा तो नहीं बताया। लेकिन उन्होंने यह जरूर कहा था कि जब नीतू से उनकी पहली मुलाकात हुई थी, तब वे यास्मीन को डेट कर रहे थे लेकिन बॉबी की सक्सेस के बाद यास्मीन को लगा कि ऋषि ‘बॉबी’ में उनकी कोस्टार रहीं डिंपल कपाडिया के प्यार में फंस गए हैं तो यास्मीन ने गलतफहमी का शिकार होकर ऋषि के प्यार को ही ठुकरा दिया। ऋषि कपूर ने उन्हें समझाने की बहुत कोशिश की लेकिन वो नहीं मानीं।

जब राजेश खन्ना ने समुद्र में फेंक दी ऋषि कपूर की अंगूठी
अपनी किताब में ऋषि कपूर ने कहा है- जब मैं यास्मीन के साथ रिलेशनशिप में था तब यास्मीन ने मुझे एक रिंग गिफ्ट की थी लेकिन फिल्म बॉबी के दौरान डिंपल ने वो रिंग मुझसे लेकर पहन ली। जब राजेश खन्ना ने डिंपल को प्रपोज किया तो उनसे उस रिंग को समुद्र में फेंकने को कहा। जब डिंपल ने ऐसा किया, तब ही राजेश और उनके बीच कमिटमेंट की शुरुआत हुई लेकिन सच्चाई ये थी कि मैं कभी डिंपल से प्यार नहीं करता था।

अमिताभ से थी टक्कर तो ऋषि कपूर ने खरीदा था अवॉर्ड
अपनी ऑटोब्रायोग्राफी ‘खुल्लम खुल्ला’ में ऋषि कपूर ने बताया था, मैंने  30 हजार रुपये देकर फिल्मफेयर अवॉर्ड अपने नाम किया था। दरअसल यह बात 1973 की है। उन्होंने इस तरह फिल्म ‘बॉबी’ के लिए बेस्ट एक्टर का अवॉर्ड अपने नाम किया था। उस वक्त ‘जंजीर’ में बेहतरीन अभिनय करने के लिए अमिताभ बच्चन उनके कॉम्पिटीटर थे। ऋषि कपूर बाद में ये भी सोचते थे कि इसी वजह से अभिताभ और उनके रिश्ते ठंडे पड़ गए, क्योंकि अमिताभ को लगता था कि अवॉर्ड वे डिजर्व करते थे। इसी वजह से दोनों के रिश्ते में खटास भी आई थी। हालांकि बाद में दोनों के बीच ऐसा कुछ नहीं रहा।

इस वजह से लगभग ठुकरा ही दी थी ‘कभी-कभी’
फिल्म ‘कभी-कभी’ बड़ी हिट साबित हुई थी। ऋषि कपूर इसे लेकर कहते हैं कि उन्होंने इस फिल्म को लगभग ठुकरा ही दिया था क्योंकि फिल्म में नीतू का रोल उनसे ज्यादा दमदार था। ऋषि ने अपनी किताब में बताया है, ‘कभी-कभी’ का ऑफर शुरुआत में मैंने ठुकरा दिया था। इसकी दो वजह थीं। एक मुझे अमिताभ बच्चन को चुनौती देनी थी। दूसरा मुझे लगता था कि नीतू का रोल मुझसे दमदार था।

जब संजय दत्त पहुंच गए थे ऋषि कपूर को मारने
इस किताब में ऋषि कपूर ने ये भी बताया है कि एक बार संजय दत्त उन्हें मारने उनके अपार्टमेंट में पहुंच गए थे। दरअसल संजय को शक था कि उनका अफेयर टीना मुनीम से चल रहा है। हालांकि, नीतू सिंह के समझाने पर संजय वापस लौट गए थे।

Show More

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!