ChhattisgarhCrime

शराब के लिए एक भाई ने ही अपने भाई को उतारा मौत के घाट.. आरोपी और मुतक दोनों है चचेरे भाई.. जाने क्या है पूरा मामला.

छग/बिलाईगढ़: तालाब से महज 100मीटर की दूरी पर स्थित झाड़ियों के बीच खून देख गाँव में खलबली मच गई है।कई जानवर  या पशु का खून समझ रहा था तो कई  इन्शान का। दूसरे दिन तालाब के किनारे कपड़े , चप्पल व टॉर्च  मिला तो ग्रामीणों की पैरो तले जमीन खिसक गया क्या है पूरा मामला देखिए इस रिपोर्ट में।

दरअसल बिलाईगढ़ ब्लॉक के टांडापारा में 25 अप्रैल की रात महेश्वर भास्कर अपने पत्नी को तालाब शौच करने की जानकारी देकर तालाब चला गया था। किन्तु महेश्वर और उनका चचेरा भाई संजय भास्कर दोनों मिलकर तालाब मछली पकड़ने गए । तालाब के पास दोनों बैठ शराब पीने लगे , दोनों के बीच शराब को लेकर विवाद खड़ा हो गया । विवाद इतना बढ़ा की महेश्वर आक्रोश में आकर तेजधार हत्यार लेकर संजय भास्कर को दौड़ाने लगे । संजय भास्कर दौड़ते हुए गौठान की ओर चला गया । नशा अधिक होने के कारण महेश्वर जमीन पर गिर गया जिसका फायदा उठाकर संजय तेजधार हथियार को छीनकर महेश्वर पर ताबड़तोड़ वार कर दिया जिससे मौके पर महेश्वर की मौत हो गई। ततपश्चात आरोपी संजय ने हथियार को तालाब से निकले नख्खी के झाड़ियों के पास जमीन में गाड़ दिया। पुनः घटनास्थल पहुँचकर संजय महेश्वर के शरीर से निकल रहे खून को कपड़े में बांधकर तालाब ले गया जहाँ लाश को दो पत्थरों से बांधकर तालाब के गहरे पानी के बीच डुबाकर आ गया। फिर आरोपी संजय ने घटनास्थल पर बहे खून को मिटाने का प्रयास करते हुए गौठान से धूल उठाकर खून में डाल दिया और झाड़ियों में लगे खून को भी तोड़कर इधर उधर फेक दिया तांकि देखने वालों को पता न चलें कि यह खून है। आरोपी मृतक के,गमछा, चप्पल को तालाब के  किनारें झाड़ियों में फेंक दिया तथा टॉर्च को तालाब के पानी मे फेंक वहां से फरार हो गया।। दूसरे दिन 26 अप्रैल की सुबह मृतक के परिजन रात से मृतक महेश्वर को घर वापस नहीं आने की जानकारी देते हुए तालाब और आसपास को तलाशने लगे उसी दौरान गौठान के पास जमीन पर भारी मात्रा में खून बहा , खून के ऊपर धूल डला हुआ तथा आसपास के झाड़ियों का तना टूटा और फेका दिखा जिस पर मृतक के परिजन को हत्या होने का आशंका हुआ । तत्काल परिजन बिलाईगढ़ थाना पहुँच गुमसुदगी का रिपोर्ट दर्ज कराया।
बिलाईगढ़ थाना की टीम घटनास्थल पहुँचा और जमीन पर गिरे खून को देख, संदेह जाहिर करते हुए आसपास से सुराग ढूढने प्रयास किया किन्तु पुलिस को कुछ भी सुराग  नहीं मिला और चला गया। ग्रामीणों की मदद से मृतक के परिजन आज सुबह तालाब को तलाशने लगा तभी  तालाब के किनारे झाड़ियों में मृतक महेश्वर का गमछा, चप्पल और टॉर्च दिखा  जिसकी जानकारी पुनः बिलाईगढ़ पुलिस को दी। तब तक मीडिया की टीम वहाँ पहुँच कर परिजनों से पूछताछ कर जानकारी लेने लगे।  उसी बीच हत्यारा संजय अपने पिता को शराब के नशे में आकर महेश्वर का हत्या करना बताया और अपने आपको थाना में सरेंडर कर दिया।
वही दूसरी ओर थाना में हत्या करना कबूल लाश को तालाब में फेकना बताया तत्काल पुलिस की टीम आरोपी को लेकर घटनास्थल पहुँचा। आरोपी घटनास्थल ले जाकर  पुलिस को गुमराह करते हुए पूरी घटनाक्रम की जानकारी दी। और बताया कि राड से हत्या कर , राड को तालाब में फेक दिया है।  तालाब में  फेंके राड को तलाशना शुरू किया गया, किन्तु राड नहीं मिल पाया। काफी देर बाद तलवार से हत्या कर छिपाकर रखे तलवार की जानकारी दी। पुलिस ने छिपाए गए तलवार बरामद किया।
ततपश्चात आरोपी के बताए निशानदेही पर मृतक महेश्वर का शव  तालाब से बाहर निकाला गया । शव का पंचनामा कर पी एम के लिए भेज दिया। वहीं दूसरी  ओर  पुलिस  इस हत्या में कोई और शामिल तो नहीं की सन्देह से  आरोपी को कड़ाई से पूछताछ कर रही है  तांकि और खुलाशा हो सके।
रिपोर्ट – विजय सोनी, बिलाईगढ़
Show More

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!
Close