Chhattisgarh

श्रद्धांजलि योजना की राशी समय पर मिले – हितानंद

कोरबा : नगर पालिक निगम के नेता प्रतिपक्ष  हितानंद अग्रवाल द्वारा निगम आयुक्त को पत्र दिया गया जिसमे उल्लेख है कि संपूर्ण कोरबा नगर निगम में अति संवेदनशील श्रद्धांजलि योजना को गंभीरता से नहीं लिया जा रहा है। व्यक्ति के मृत्यु के उपरांत 24 घंटों के अंदर इस योजना की सहायता राशि हितग्राही को मिल जानी चाहिए, ताकि यह योजना जिस उद्देश्य से लागू की गई, योजना की राशि उस काम में आ जाए। हितानंद अग्रवाल ने बताया की लोगों को कई कई दिन जोन कार्यालयों के चक्कर काटने पड़ते हैं एवं इस योजना की राशि उन्हें बहुत देर से मिलती है। उन्होंने बताया की 2011-12 में तत्कालीन महापौर श्री जोगेश लांबा जी के द्वारा समाज में आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों में किसी व्यक्ति की मृत्यु के उपरांत अंतिम संस्कार एवं अन्य खर्चों हेतु ₹3000 की सहायता राशि देने की संवेदनशील श्रद्धांजलि योजना का शुभारंभ किया गया। जिसे मॉडल बनाकर संपूर्ण छत्तीसगढ़ में लागू किया गया और फिर बाद में मध्यप्रदेश में भी लागू किया गया। कोरबा नगर निगम के लगभग सभी वार्डों में आलम यह है कि हितग्राही को फंड का ना होना बताया जाता है उन्होंने बताया कि हमें शिकायत मिली कि वार्ड क्रमांक 11 में दिलहरण श्रीवास,के पिता की मृत्यु 18 अप्रैल को हो गई। उनके अंतिम संस्कार के लिए शासन की श्रद्धांजलि योजना का लाभ उसे अब तक नहीं मिला है। वह 20 अप्रैल से योजना की राशि प्राप्त करने जोन कार्यालय के चक्कर काट रहा है। पहले दिन साहब के नहीं होने की बात कही गई और उसके बाद नगर निगम मद में बैलेंस नहीं होना बताकर घुमाया जा रहा है। इसी प्रकार दर्री जोन के पार्षद गोलु पांडे , कोरबा जोन की पार्षद धनश्री साहू , बालको जोन के पार्षद नर्मदा लहरे , बांकीमोंगरा जोन की पार्षद कमला बरेड एवं अन्य पार्षदों से भी हमें इसी प्रकार की शिकायत प्राप्त हुई। विकट स्थिति में प्रदान की जाने वाली ऐसी योजना का कोरबा नगर निगम में मजाक बनाया जा रहा है यह राशि 24 घंटों के अंदर हितग्राही को उपलब्ध कराने बाबत यह पत्र आयुक्त महोदय को सौंपा गया।

Show More

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!