Chhattisgarh

SECL में ई-ऑफिस कार्यप्रणाली लागू.. वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से होगी ऑफिस में मीटिंग.. फाइलों की मूवमेंट अब होगी ऑनलाइन.

छत्तीसगढ़/कोरबा : एसईसीएल कोल् इंडिया की एक अनुषंगी कंपनी हैं, जो सबसे अधिक कोयला उत्पादन करती हैं | कोरोना वाइरस वैश्विक महामारी के प्रभाव व प्रसार को रोकने एवं बचाव हेतु सरकार द्वारा पुरे देश में लॉक डाउन लागू किया हुआ हैं, लेकिन वे सभी कार्यालय जो आवश्यक सेवाओं से जुड़े हुए हैं, उनको लॉकडाउन अवधि के दौरान परिचालन की छुट प्रदान की गयी हैं | एसईसीएल, भी आवश्यक सेवाओं से जुडी कंपनी हैं |

एसईसीएल, गेवरा परियोजना जो एसईसीएल एवं कोल् इंडिया ही नही बल्कि एशिया महाद्वीप की सर्वाधिक कोयला उत्पादन खदान हैं | एसईसीएल, गेवरा परियोजना ने कोरोना वाइरस के संकट के बीच वाइरस से लड़ते हुए भी वित्त वर्ष 2019-2020 में रिकार्ड 45 मिलियन टन कोयले का उत्पादन किया हैं | एसईसीएल, गेवरा परियोजना एवं कार्यालय द्वारा देश की ऊर्जा आकांक्षाओं की पूर्ति हेतु लॉकडाउन अवधि के दौरान भी अधिकारी/कर्मचारियों द्वारा कार्यालय की सुचारू कार्यप्रणाली सुनिश्चित करने एवं अपने कर्तव्यों का निर्वहन करने के लिए कोरोना से बचाव के सभी एहतियात जैसे- फेस कवर/ मास्क को अनिवार्य रूप से पहनकर और सैनिटाइजर का उपयोग के उपयोग के साथ-साथ ‘सामाजिक दुरी’ का पालन करते हुए अपने कर्तव्यों का निर्वहन किया जा रहा हैं | कोरोना वाइरस के रोकथाम एवं बचाव के मद्देनजर जारी लॉक डाउन में गृह मंत्रालय व कोयला मंत्रालय द्वारा जारी दिशा निर्देश और तैयार किए गए प्रोटोकॉल का कड़ाई से पालन करते हुए गेवरा क्षेत्र में कार्य किया जा रहा हैं | लॉक डाउन की अवधि में कार्यालयों में अनावश्यक लोगों की आवाजाही पर प्रतिबंद्ध लगाया गया हैं |

एसईसीएल में मनोज कुमार प्रसाद ‘निदेशक-तकनीक (योजना एवं परियोजना)’ ने एसईसीएल में सभी अधिकारियों/ कर्मचारियों को ऑफिस कार्यों में “ई-ऑफिस कार्य प्रणाली” अपनाने के लिए निर्देशित किया हैं | कार्यालय आते जाते समय कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए आवश्यक सावधानी एवं दिशा निर्देशों का पालन करने पर जोर दिया है | जिसके परिपालन में एसईसीएल गेवरा क्षेत्र में महाप्रबंधक श्री एस. के. पाल के दिशा-निर्देशों के अनुसार गेवरा क्षेत्र के कार्यालय में “ई-ऑफिस कार्य प्रणाली” को अनिवार्य कर दिया गया हैं | ई-ऑफिस कार्य प्रणाली अपनाने से आवश्यक फाइलों एवं दस्तावेजों का मूवमेंट फिजिकली ना होकर ऑनलाइन कंप्यूटर के माध्यम से एक -दूसरे सेक्शन / विभागों में होते हुए वरिष्ठ अधिकारियों तक पहुंचेगी एवं आवश्यक कार्यवाही ऑनलाइन ही संपादित की जाएगी इससे जहां एक और समय की बचत होगी वहीं पेपर एवं अन्य स्टेशनरी सामग्री की भी बचत होगी और कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने में भी एक कारगर कदम साबित होगा |

एसईसीएल, गेवरा क्षेत्र में लॉक डाउन के दौरान अधिकारियों/कर्मचारियों को मीटिंग व विमर्श वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से ही सम्पन्न करने हेतु दिशा-निर्देशित किया गया हैं | ई-ऑफिस कार्यप्रणाली के सुचारू संचालन हेतु अधिकारियों/कर्मचारियों को प्रशिक्षित भी किया गया है |

Show More

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!