National

Covid 19: मौलाना साद की अब तक गिरफ्तारी न होने के पीछे दिल्‍ली पुलिस ने बताई यह वजह..

INN24:तबलीगी जमात के मौलाना साद की अब तक गिरफ्तारी न होने के पीछे अब क्राइम ब्रांच ने एक बड़ी वजह बताई है. दिल्ली पुलिस से जुड़े सूत्रों की मानें तो साद ने अभी तक कोरोना की सरकारी जांच नहीं कराई है. क्राइम ब्रांच ने अपने बड़े अफसरों को जानकारी देते हुए कहा है कि मौलाना साद से कहा गया है कि पहले वो अपनी सरकारी जांच कराए. पुलिस जब उनकी रिपोर्ट देख लेगी उसके बाद ही उन्‍हें समन जारी किया जाएगा और आगे की पूछताछ में शामिल किया जाएगा. क्राइम ब्रांच का कहना है कि उन्हें जानकारी मिली है कि साद ज़ाकिर नगर के घर में क्वारंटाइन हैं. बावजूद इसके अब तक सरकारी अस्पताल में जाकर टेस्ट नहीं कराया है.

मौलाना साद का बेटा होने का दावा करने वाले एक शख्स ने बताया था कि वह कोरोना पॉजिटिव नहीं हैं. साथ ही यह खबर भी आ रही है कि मौलाना साद दिल्ली के ज़ाकिर नगर इलाके में ही हैं. निजी डॉक्टरों की टीम साद का हेल्थ चेकअप करती है. वहीं, यूपी में रहने वाले साद के दो रिश्‍तेदार कोरोना वायरस की चपेट में आ गए हैं. मौलाना साद के दोनों रिश्तेदार भी मरकज़ आए थे. जानकारों की मानें तो मौलाना सलमान मौलाना साद के ससुर हैं. ससुर के समधी के दो छोटे भाइयों की कोरोना टेस्ट रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी. ये दोनों युवक भी निजामुद्दीन स्थित तबलीगी जमात के मरकज़ में रुके थे.

सूत्रों की मानें तो दिल्ली में तब्लीगी मरकज़ से जुड़े जमातियों को तलाशना अब मुश्किल नहीं होगा. जमाती घर में हों या मस्जिद में उनकी जानकारी आसानी से मिल जाएगी. दिल्ली सरकार की 13 हज़ार टीम अब दिल्ली के हर मोहल्ले और कॉलोनी में कोरोना संक्रामित को तलाशने के लिए निकल रही है. इसे कोरोना फुट वॉरियर्स कंटेंटमेंट एंड सर्विलांस टीम का नाम दिया गया है. इस टीम में पांच लोग होंगे. इसमें ज़्यादातर लोग स्थानीय होंगे.

Show More

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!