ChhattisgarhCorona Update

कोरबा: कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए अब तक 270 लोगों को भेजा गया क्वारेंटाईन सेंटर.

छग/कोरबा: कटघोरा के एक सीमित क्षेत्र में ही कोरोना संक्रमण को नियंत्रित रखने और कोर एरिया के अधिक से अधिक लोगों को इस संक्रमण से बचाये रखने के लिए जिला प्रशासन ने अपनी कार्य योजना पर अमल शुरू कर दिया है। हाई रिस्क वाले सभी लोगों को संक्रमित क्षेत्र से निकालकर सुरक्षित क्वारेंटाईन सेंटरों में रखा जा रहा है। जिले में अब तक 270 लोगों को नौ विभिन्न क्वारेंटाईन सेंटरों में रखा गया है। इन क्वारेंटाईन सेंटरों में रूकने वाले लोगों के लिए रहने, खाने की पूरी व्यवस्था जिला प्रशासन द्वारा कर दी गई है। गेवरा के सीटीआई गेस्ट हाउस में तब्लीगी जमात से जुड़े 52 लोंगों को रखा गया है, वहीं कोरबा के रसियन हास्टल में बने अस्थाई क्वारेंटाईन सेंटर में संक्रमित मरीजों के संपर्क में आये 26 लोगों को निगरानी में रखा गया है। शहर के टाप इन टाउन होटल में बने क्वारेंटाईन सेंटर में 36 लोगों को रखा गया है। उरगा के रिलेक्स इन होटल में 35, ग्रीन पार्क होटल में 46, प्रगति नगर दीपका में 13, कटघोरा के प्री मैट्रिक कन्या छात्रावास में तीन लोगों को क्वारेंटाईन किया गया है।
जिला दण्डाधिकारी किरण कौशल ने कोरोना के नियंत्रण के लिए क्वारेंटाईन सेंटर के रूप में बालाजी ट्रामा सेंटर अस्पताल को भी तत्काल प्रभाव से अधिग्रहित कर लिया है। इसमें कटघोरा के संक्रमित एरिया से गर्भवती एवं शिशुवती महिलाओं तथा बीमार बुजुर्गों को लाकर सुरक्षित रखा गया है। ट्रामा सेंटर में वर्तमान में 47 लोग क्वारेंटाईन किये गये हैं। इसी प्रकार एनटीपीसी के अस्पताल में भी 12 लोगों को क्वारेंटाईन किया गया है। इनमें से कुछ बुजुर्ग उम्रदराज बीमारियों जैसे लकवा, मधुमेह आदि से पीड़ित हैं और लंबे समय से इनका ईलाज किसी न किसी अन्य अस्पताल में चल रहा है। कटघोरा के संक्रमित क्षेत्र को पूरी तरह लॅाक डाउन करने के बाद और इलाके के सभी लोगों को होम आइसोलेशन में रखने के कारण इन बुजुर्गों के सामने अपनी स्वास्थ्यगत देखभाल की समस्या खड़ी हो गई थी जिसे ध्यान में रखते हुए इन बुजुर्गों को जरूरी देखभाल और लगातार चल रहे ईलाज के लिए एनटीपीसी अस्पताल के वार्ड में भर्ती किया गया है। ऐसे बुजुर्ग जिनको लगातार देखभाल की आवश्यकता है उनके साथ एक-एक परिजन को भी सहायक के रूप में अस्पताल में रहने की अनुमति दी गई है।

Show More

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!