ChhattisgarhCorona Update

कोरबा: छह सौ से अधिक कोरोना वारियर्स ने रोकी कोविड-19 की रफ्तार.. कटघोरा के 14 मरीज हुए स्वस्थ्य.. घर लौटकर रहेंगे होम क्वारेंटाईन.

छग/कोरबा: कोरोना का हाट स्पाट अब तेजी से ठंडा होने लगा है। छह सौ से अधिक कोरोना वारियर्स ने कलेक्टर किरण कौशल की रणनीति और एसपी अभिशेक मीणा के कार्य निर्देशन में लगातार काम करके कोरोना के फैलाव की रफ्तार पुरानी मस्जिद पारा तक ही सीमित कर दी है। पिछले 36 घंटों में कटघोरा ही नहीं बल्कि पूरे कोरबा जिले में एक भी नया मरीज कोरोना संक्रमित नहीं मिला है। कोरोना वारियर्स की कठोर और अपनी जान की परवाह किये बिना की गई मेहनत का यह नतीजा है कि कोविड-19 वायरस का फैलाव मस्जिद से एक सौ मीटर की परिधि से बाहर नहीं हो पाया है। कटघोरा में कोरोना के लगभग सभी संक्रमित मस्जिद के 100 मीटर के दायरे वाले घरों से ही मिले हैं। इसके आगे भी स्वास्थ्य विभाग द्वारा संदिग्धों की सैंपलिंग की गई थी परंतु ऐसे सभी सेंपलों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। कटघोरा के 24 संक्रमित मरीजों में से 14 लोग रायपुर एम्स में ईलाज के बाद पूरी तरह ठीक होकर अपने घर लौट आये हैं और इन्हे होम क्वारेंटाईन में रखा गया है। कोरोना से इस जंग में 100 से अधिक स्वास्थ्य कर्मी, लगभग तीन सौ पुलिस कर्मी, नगर पालिका परिषद के लगभग 100 कर्मियों के साथ राजस्व अमला और अन्य विभागों के एक सौ से अधिक अधिकारी-कर्मचारी जुटे हैं। लगभग 60 वालिंटियर भी लोगों तक रोजमर्रा की अति आवश्यक चीजें घर-घर पहुंचाने में अपनी बड़ी भूमिका निभा रहे हैं।
कटघोरा में कोरोना से जंग लड़ने के लिए पहले संक्रमित व्यक्ति की पहचान होने के बाद से ही कलेक्टर किरण कौशल और एसपी श्री मीणा ने फुलपु्रफ रणनीति तय कर ली थी। संक्रमित क्षेत्र को पूरी तरह से लॅाक डाउन करके तत्काल तीस टीमें बनाकर घर-घर सर्वे शुरू किया गया था। कटघोरा में चार हजार 148 घरों का सघन सर्वे किया गया है। संक्रमित लोगों के संपर्क सूत्रों को ट्रेस करने के लिए अलग से दस लोगों को काम पर लगाया गया था। संक्रमित लोगों की पहचान के लिए स्वास्थ्य विभाग ने चार सेंपलिंग टीमें बनाई और एक हजार तीन सौ से अधिक लोगों के सेंपल लिए। पूरे कटघोरा शहर को चार जोन- 15 सेक्टरों में बांटकर मजबूत बेरिकेटिंग कर पूर्ण तालाबंदी कर दी गई। पुलिस और बांगो बटालियन के तीन सौ जवानों तथा अधिकारियों की मौके पर तैनाती की गई। किसी भी परिस्थिति में लोगों को घरों से बाहर निकलने की मनाही कर दी गई। पूरे क्षेत्र में सेनेटाइजेशन गतिविधियां तेज कर दी गई है। सोडियम हाइपोक्लोराइड के घोल का छिड़काव नगर पालिका परिषद के कर्मचारियों के साथ-साथ फायर ब्रिगेड और छिडकाव के लिए बनी विशेष बडी गाडियों से पूरे शहर में प्रतिदिन किया जा रहा है। नगर पालिका परिषद के सफाई कर्मी भी लगातार सामान्य दिनों की तरह ही अपने काम में लगे हैं। संक्रमित क्षेत्र के प्रवेश द्वार पर तत्काल सेनेटाइजिंग टनल लगाई गई ताकि संक्रमित क्षेत्र में आने जानेे वाले अधिकारी-कर्मचारियों को विसंक्रमीकृत किया जा सके।
अति आवश्यक वस्तुओं की घर पहुंच सेवा शुरू की गई। लोगो तक जरूरत के सामान राशन दवाई आदि पहुंचाने के लिए दुकानदारों के वाट्सअप ग्रुप बनाकर आर्डर लिया जा रहा है। इसके बाद सभी मिले आॅर्डर यथाशीघ्र 60 वालंटियरों की एक बडी टीम के माध्यम से होम डिलवरी दी जा रही है। राशन कार्ड धारकों को खाद्य विभाग के अधिकारियों ने घर पहुंचाकर दो महिने का राशन दिया है। पुलिस द्वारा सात-सात ड्रोन कैमरो के साथ सड़कों पर पेट्रोलिंग भी बढा दी गई। 25 बाइक पेट्रोलिंग टीम लगातार कटघोरा की गलियों में घूमकर निगरानी कर रही है। समय-समय पर पुलिस प्रशासन के साथ मिलकर शहर में फ्लैग मार्च भी कर रही है। कटघोरा से लगे छुरीकला नगर पंचायत क्षेत्र को भी संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए सावधानीवश पूरी तरह से लाॅकडाउन करा दिया गया है। नगर पालिक दीपका और नगर पंचायत पाली में बाजारों तथा अति आवश्यक सेवाओं की दुकानों के खुलने बंद होने का समय सुबह दस से दोपहर एक कर दिया गया है। छुरीकला में आवश्यक वस्तुओं की पूर्ति के लिए घर पहुंच सेवा शुरू कर दी गई है।

Show More

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!
Close