Crime

पिता-पुत्री के रिश्तों को कलंकित करने का मामला.. 11 वर्ष की उम्र से ही बेटी को बना रहा था हवस का शिकार.. मना करने पर जान से मारने की देता था धमकी.

सिलीगुड़ी के भक्तिनगर थाना क्षेत्र इलाके में मानवता को शर्मसार और पिता-पुत्री के रिश्तों को कलंकित करने का मामला सामने आया है, जहां एक कलयुगी पिता अपनी ही बेटी को हवस का शिकार बना रहा था. घटना शहर के आशीघर आउट पोस्ट स्थित निरंजन नगर इलाके की है. पीड़िता ने पिता के खिलाफ आशीघर आउट पोस्ट में शिकायत दर्ज करायी है. पुलिस ने भी त्वरित कार्रवाई करते हुए आरोपी पिता को गिरफ्तार कर लिया है. वहीं आरोपी के घर के सामने पहुंचकर आक्रोशित स्थानीय लोगों ने जमा होकर हंगामा किया और कड़ी सजा दिलाने की मांग की.

घटना के बारे में जानकारी देते हुए पीड़िता ने बताया कि वह आशीघर आउट पोस्ट के वार्ड नंबर-36 के निरंजन नगर में रहती है. उसने कहा कि आरोपी पिता मुझे 11 वर्ष की उम्र से ही अपने हवस का शिकार बना रहा था. इस संबंध में पीड़िता ने रविवार को आशीघर पुलिस आउट पोस्ट में शिकायत भी दर्ज करायी है. पीड़िता ने बताया कि मेरे पिता ने मेरे साथ कई बार जबरन दुष्कर्म किया. विरोध और मना करने पर किसी को बताने पर जान से मारने की धमकी देता था.

घटना को अंजाम देने के लिए आरोपी पिता ने बेटी को उसके पति से भी अलग करा दिया. आरोपी पिता पेशे से टोटो चालक है. पीड़िता की मानें तो पिता शादी के पहले से ही उसके साथ गलत काम करता था. इस दौरान वह गर्भवती भी हुई थी. पीड़िता ने आरोप लगाते हुए कहा कि उसने मेरे गर्भवस्था की जांच भी करायी, उसके बाद भी गर्भ निरोधक दवा का इस्तेमाल कर घटना को अंजाम देता रहा. मुंह खोलने पर पिता जान से मारने की धमकी भी देता था. जब उन्होंने अपने बड़ी बुआ लख्खी दास को घटना की जानकारी दी तो उसने भी भी मुंह बंद रखने की सलाह दी.

पिता के दुराचार से बचने के लिए कर ली शादी

पीड़िता ने बताया कि आरोपी पिता के लगातार दुराचार किये जाने की वजह से ही एक साल पहले उसने शादी कर ली. लेकिन अपने वासना की पूर्ति के लिए पिता ने दो-तीन माह के भीतर ही पति से अलग रहा दिया. इसके बाद भी फिर से गलत काम करने का प्रयास किया.

इस मामले को लेकर पहले वह भक्तिनगर थाना पहुंची, जहां से आशीघर आउट पोस्ट में जाकर मामले की शिकायत करने को कहा गया. इतना ही नहीं, घटना के बारे में स्थानीय वार्ड पार्षद आलोक भक्त को जानकारी दी गयी. लेकिन पार्षद ने भी कोई सहयोग नहीं किया. वहीं इस मामले को लेकर आलोक भक्त ने कहा कि आरोप बेबुनियाद है.

थाना में शिकायत के बाद पीड़िता संग मारपीट

पीड़िता ने आरोप लगाया कि दो दिनों पहले जब उन्होंने आरोपी पिता, बड़ी बुआ व अन्य परिजनों के खिलाफ आशीघर आउट पोस्ट में मौखिक शिकायत की, तो मारपीट कर उसके पिता, दादा तथा उसके भाई ने उसे घर से बाहर निकाल दिया.

वहीं स्थानीय निवासी सानू वैद्य ने बताया कि केवल आरोपी पिता ही नहीं बल्कि, पीड़िता के दादा ने भी किसी जमाने में पीड़िता की मां के साथ ऐसी ही घिनौनी घटना को अंजाम दिया था. उन्होंने इस घटना से जुड़े आरोपियों को कड़ी से कड़ी सजा दिलाने की मांग की है.

आरोपी को दिलायी जायेगी कड़ी सजा : डीसीपी

घटना के बारे में पूछे जाने पर सिलीगुड़ी मेट्रोपोलिटन पुलिस के ईस्ट जोन-1 के डीसीपी नीमा नोर्वों भूटिया ने कहा कि मामला काफी संवेदनशील है. उन्होंने बताया कि इस मामले की पुलिस गंभीरता से जांच कर रही है. आरोपी पिता को कड़ी से कड़ी सजा दिलायी जायेगी. पीड़िता को पुलिस प्रशासन हरसंभव मदद करेगा.

Show More

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!