Chhattisgarh

बम्हनीडीह : देव पैथोलैब को तहसीलदार ने किया सील.. बिना दस्तावेज के नियमों को ताक पर रख किया जा रहा था संचालन.

छत्तीसगढ़/बम्हनीडीह : सी एच सी के सामने देव पैथोलैब को बम्हनीडीह तहसीलदार गरीमा मनहर ने सील कर दिया है मिली जानकारी के अनुसार बम्हनीडीह के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के सामने ही बिना किसी दस्तावेज व मापदंड दे देव पैथोलैब का संचालन हो रहा था जिसकी खबर क्षेत्रीय अखबारों ने शनिवार को प्रमुखता से प्रकाशित किया था जिसके बाद कलेक्टर जनक पाठक व एस डी एम ने बजरंग दुबे ने समाचार पत्रों के खबर पर तत्काल संज्ञान लेते हुए बम्हनीडीह के नायब तहसीलदार गरीमा मनहर एवं विकासखंड चिकित्सा अधिकारी बम्हनीडीह की टिम गठित कर देव पैथोलैब की जाँच किया गया जांच करने पहुचे अधिकारीयो को देव पैथोलैब संचालित करने का कोई वैध दस्तावेज संचालक के द्वारा प्रस्तुत नही किया गया जिसके बाद तहसीलदार ने पैथोलैब को सील कर दिया है अधिकारीयो ने बताया की देव पैथोलैब के पास नर्सिंग एक्ट के तहत पंजीयन भी नही होने के कारण लैब को सील किया गया

एस डी एम के सख्त आदेश के बाद मजबूरी मे करनी पडी कार्यवाई

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार स्वास्थ्य विभाग के अधिकारीयो को मजबूरी मे देव पैथोलैब पर कार्यवाई करने जाना पडा मिली जानकारी के अनुसार बम्हनीडीह सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में पदस्थ डाक्टरों की देव पैथोलैब के संचालक से कमिशन को लेकर काफी सांठ गांठ है पर एस डी एम चाम्पा के सख्त आदेश आने के बाद मजबूरी मे देव पैथोलैब पर कार्यवाई की गई है लोगो का यह तक कहना है की अगर तहसीलदार कार्यवाई करने खुद नही आती तो सायद ही बम्हनीडीह के डाक्टरो द्वारा देव पैथोलैब पर कार्यवाई कि जाती

कमिशन के लालच मे डाक्टर मरीजो को बाहर से ब्लड टेस्ट की देते थे सलाह

बम्हनीडीही सी एच सी मे लैब होने के बाद भी यहा पदस्थ डाक्टर मरीजो को बाहर से ब्लड टेस्ट कराने के लिये बोलते थे केव की अगर सी एच सी मे मरीजो का ब्लड टेस्ट होगा तो उनका कमिशन मार खा जायेगा इस कारण डाक्टर देव पैथोलैब से टेस्ट कराने की सलाह देते थे सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार सी एच सी मे पदस्थ डाक्टर बकायदा जीवन दिप समिति की रसीद काट कर दि जाती थी जिसके आधार पर उनका कमिशन बनता था।

बम्हनीडीह मे संचालित देव पैथोलैब की टिम भेज कर जांच कराया गया संचालक द्वारा नर्सिंग होम एक्ट नियम के तहत कोई वैध उपलब्ध नही कराया गया जिसके बाद लैब को सील कर दिया गया है।

Show More

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!
Close