Chhattisgarh

सिपेट ने कोविड-19 राहत कोष में दिए दो लाख

Korba : विगत कुछ महिनों से कोरोना वायरस के कारण विश्व स्तर पर गंभीर एवं भयावह स्थिति निर्मित हो चुकी हैं। विश्व के साथ-साथ भारत भी कोरोना वायरस के संक्रमण से ग्रसित हो चुका हैं। संपूर्ण भारत में इस भयावह स्थिति को रोकने एवं इससे निपटने के लिए हर संभव प्रयास किए जा रहें हैं। इस गंभीर समस्या से निपटने के लिए संपूर्ण भारत देश में माननीय प्रधानमंत्री जी द्वारा 14 अप्रैल 2020 तक लॉकडाउन घोषित किया गया है। सेंट्रल इस्टीट्यूट ऑफ प्लास्टिक्स इंजीनियरिंग एण्ड टेक्नालॉजी(सिपेट), कोरबा भी संकट के इस समय में जन सहायता के लिए कार्यरत हैं। लॉक डाउन के दौरान प्रदेश में प्रतिबंध के कारण फंसे जनमानस, निर्धन, बेसहारा, संकटग्रस्त व्यक्तियों एवं जरूरतमंदो को भोजन एवं आर्थिक सहायता प्रदान करने हेतु सिपेट, कोरबा ने सामाजिक उत्तरदायित्व के अंश के रूप में नगर पालिक निगम कोरबा के कोविड-19 रिलिफ फंड में दो लाख रूपये की सहायता राशि जमा की है। इसके साथ ही साथ सामाजिक काम करते हुए सिपेट, कोरबा टीम द्वारा प्रशांति वृध्दा आश्रम,कोरबा, रैन बसेरा– जिला चिकित्सालय कोरबा के पास एवं सर्वमंगला मंदिर के पास गरीब एवं जरूरतमंद जनमानस को भोजन प्रदान किया। सिपेट देशभर के विभिन्न राज्यों में स्थापित सिपेट केन्द्रों के साथ नोवेल कोरोना वायरस को हराने में प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष रूप से सक्रिय योगदान दे रहा हैं। सिपेट, कोरबा ने जनमानस से यह आग्रह भी किया है कि कोरोना वायरस के रोकथाम के लिए सरकार द्वारा प्रसारित निर्देशों का पालन करें एवं सभी एक साथ मिलकर मुसीबत के इस समय में राष्ट्र हित में काम करें। सिपेट के सभी कर्मचारियों ने अपने एक दिन का वेतन भी पीएम केयर्स फंड में दिया है।

Show More

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!