Chhattisgarh

राजनांदगांव : स्कूली छात्रों के राशन में सेंधमारी, बोरतालाव के स्कूल में हुआ खुलासा

छत्तीसगढ़/राजनांदगांव : कोरोना के प्रभाव के चलते छत्तीसगढ़ शासन द्वारा स्कूली छात्रों को दिये जाने वाले मध्याह्न भोजन की जगह पर सूखे राशन का आबंटन किया जा रहा है जिसके अंतर्गत छग-महाराष्ट्र की सीमावर्ती क्षेत्र ग्राम बोरतालाव में स्कूली छात्रों को सूखे राशन का वितरण किया गया। बोरतालाव के प्राथमिक शाला में मध्याह्न भोजन का संचालन लक्ष्मी मां बम्लेश्वरी महिला समूह के द्वारा तथा पूर्व माध्यमिक शाला बोरतालाव में गायत्री स्वसहायता समूह द्वारा संचालित किया जाता है। शासन के द्वारा निर्धारित मापदंड के अनुसार प्राथमिक शाला के प्रति छात्रों को 4 किलोग्राम चाँवल तथा 800 ग्राम दाल प्रदान किया जाना है वहीं पूर्व माध्यमिक शाला के छात्रों को प्रति छात्र 6 किलोग्राम चाँवल तथा 12 सौ ग्राम दाल प्रदान किया जाना है। किन्तु इस दौरान उपस्थित समस्त जनप्रतिनिधियों के बीच राशन को तौलकर जाँच की गई जिसमें प्राथमिक शाला के छात्रों को 4 किलो के स्थान पर 3:20 किलो ग्राम चाँवल एवं 800 ग्राम की जगह पर 766 ग्राम दाल इसी प्रकार पूर्व माध्यमिक शाला बोरतालाव में प्रति छात्र 6 किलोग्राम चाँवल के स्थान पर 5 किलो 400 ग्राम तथा 1200 दाल की जगह 950 ग्राम दाल का आबंटन किया जा रहा था। जिसे देखकर जनप्रतिनिधि एवं ग्रामवासी काफी नाराज हुए तथा पंचनामा तैयार कर कारवाई के लिए सौंप दिया है किन्तु उच्च अधिकारियों द्वारा इस मामले पर कारवाई नही की जा रही है। ग्रामवासियों ने अधिकारियों से कड़ी कार्यवाही की मांग की है।

संवाददाता : सन्न्नी कुमार यदु – राजनाँदगाँव

Show More

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!
Close