Chhattisgarh

कोरबा: 150 जरूरतमंद परिवारों को लालघाट के समाजसेवियों द्वारा सम्पूर्ण खाद्य सामग्री व मास्क देकर किया जा रहा जागरूक.. कोरोना वायरस के खतरे के बीच लोगों तक पहुंचाई जा रही सहायता.

ज्ञात हो कि कोरबा में विगत दिनों लंदन से आये युवक को कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के कारण पूरे जिले में भय व आशंका का वातावरण बना हुआ है.

छत्तीसगढ़/कोरबा: पूरी दुनिया नोबेल कोरोना वायरस जैसे गंभीर महामारी से जूझ रहा है ऐसे में भारत भी अछूता नही है। सम्पूर्ण मानव जाति के लिए यमराज बनकर आये इस वायरस से देश को बचाने के लिए प्रधानमंत्री ने जहाँ 21 दिन के लॉकडाउन की घोषणा की है वहीं लोग घरों में रहकर अपनी व अपनी परिवार के साथ ही पूरे देश की सलामती की दुआएं कर रहै है। ज्ञात हो कि कोरबा में विगत दिनों लंदन से आये युवक को कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के कारण पूरे जिले में भय व आशंका का वातावरण बना हुआ है, प्रशासन पूरी तरह लॉक डाउन का पालन कराने में मुस्तैद है।
ऐसे में लॉक डाउन के कारण कुछ निम्नवर्ग परिवार के लोगो के सामने घर परिवार संचालन जीवन निर्वाह की समस्या आ पड़ी है। प्रतिदिन कमाकर खाने वालों के लिए कोरोना वायरस के अलावा दिनचर्या के लिए भोजन जुटा पाना भी कठिन हो गया है।
ऐसे संकट के समय कुछ राहतभरी खबर भी सामने आई है । लालघाट के ही कुछ समाजसेवी युवाओ ने ऐसे जरूरतमंदों के लिए अपने हाथ व दिल खोलकर सहायता करने का बीड़ा उठाया है। इन्होंने सभी जरूरतमंद लगभग 150 परिवारों को सम्पूर्ण खाद्य सामग्री जिसमें चाँवल,दाल, आलू, हल्दी नामक इत्यादि जिससे भोजन का निर्माण हो सके व कोरोना से बचने के लिए मास्क का भी वितरण कर रहे है साथ लोगो को जागरूक करते हुए उन्हें घरो पर रहने, सोशल डिस्टेंसिनग का पालन करने व बहुत जरूरी होने पर ही घरो से बाहर जाने के विषय में जानकारी भी दे रहे है।
समिति के सदस्य फुलदास महंत ने बताया कि जिले के मंत्री मा जयसिंह अग्रवाल जी से विगत दिनों पूर्व भेंटकर उन्होंने इसतरह के समाजसेवा कार्य की बात कही थी जिसे मा मंत्रीजी ने भी सराहा था तथा इस कार्य को जरुर करने का निर्देश दिया था। वही फुलदास महंत के इस कार्य को देखते हुए बालको के युवा जागृति समिति के अध्यक्ष ने भी सभी लोगो के लिए मास्क बनाने हेतु आवश्यक सामग्री निशुल्क अपनी समिति की ओर से उपलब्ध कराई जिसे फुलदास महंत के निर्देशन में वार्ड के ही महिला स्वसहायता समिति के सदस्यों द्वारा निर्मित किया गया।महंत ने बताया लोगो की परेशानी को देखकर उन्होंने शीघ्र यह निर्णय लिया तथा इस कार्य के लिए उन्होंने अपनी स्वर्गीय माताजी श्रीमती पुनिबाई महंत जी की पुण्यतिथि जो कि 3 अप्रैल 2019 को परमात्मा में लीन हो गयी थीं उस दिवस का चयन किया।उन्होंने बताया कि उनकी माता जी सदैव गरीबो व असहाय लोगो की सेवा हेतु तत्पर रहती थी तथा उन्होंने सदैव अपने सभी बच्चों को भी यही सिख दी है । साथ ही पूरे लालघाट के सभी बच्चो को वे आपने बच्चों के समान ही प्रेम करती थी इसीलिए पूरा लालघाट उन्हें अम्मा कहकर संबोधित भी करता था।ज्ञात हो कि उनके इस प्रकार के कार्य करने की जानकारी मिलते ही लालघाट के युवाओ ने भी हाथो हाथ इस कार्य को उठाया तथा सहयोग में लग गए वही लालघाट के अलावा बालको इत्यादि स्थानों से भी समाजसेवी इस पुनीत कार्य में सहयोग देंने हेतु शामिल हुए।
इस पूण्य कार्य में उनके मित्र व समाजसेवी बंटी अग्रवाल, किशोर गोजे, अशोक अग्रवाल, रामेश्वर बरेठ, चंदर सिंह राजपूत, बाबूखान, अजय, भोलू यादव, दुर्योधन जोशी, गोविंदा देवांगन, संजय राठौर के साथ मितानिन कार्यकर्ताओ में सविता महंत, उर्मिला महंत, कौशल्या साहू, रजनी यादव,मेनका साहू,पारस कर्ष, ईश्वरी आदिले,मधु जलतरे, अनिता टोप्पो वही आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं में मधु श्रीवास्तव अरुणा खलखो, पार्वती मरावी, सावित्री गबेल तथा स्वास्थ्य कार्यकर्ता श्यामबति राठिया मौजूद थे

Tags
Show More

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!
Close